Share

होली के रंग में सराबोर हुआ उपवन घाट, कैमिलक रंगों के सम्पूर्ण बहिष्कार की हुई अपील:- मनकामेश्वर मठ-मंदिर।

होली के उल्लास में सराबोर हुआ मनकामेश्वर उपवन घाट।

–कंडो की पारम्परिक होलिका दहन की तैयारी हुई पूर्ण।

–आतंकवाद का विरोध करते हुए इस बार होलिका के साथ दहन होगा आतंकवाद का पुतला।

–आर्थिक रूप से अक्षम बच्चों में वितरित किया गया पिचकारी व रंग।

सम्पूर्ण देश होली के रंग और उल्लास में सराबोर हो गया है हर गली में होली का प्रेम एवं तरंग अपने चरम पर है,  इस पंक्ति मे आज मंगलवार को अपराह्न 2 बजे डालीगंज स्थित मनकामेश्वर उपवन घाट पर मनकामेश्वर मठ-मंदिर व देव्या चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर व मंदिर की महंत देव्यागिरि के सानिध्य में कंडो की पारम्परिक होली सजाई गईै, होलिका दहन में हरे भरे पेड़ की टहनियों और तने का उपयोग को मंदिर प्रशासन ने सम्पूर्ण रूप वर्जित किया हुआ है, इस बार होलिका दहन में आतंकवाद के विषय को उठाते हुए होलिका के साथ आतंकवाद का भी दहन किया जाएगा साथ ही साथ कैमिलक रंगों के बढ़ते प्रयोग के दुष्प्रभाव के देखते हुए कैमिलक रंगों का भी  बहिष्कार किया गया है।

आर्थिक रूप से अक्षम बच्चों में वितरित की गई पिचकारी व रंग।

होलिका दहन से एक दिन पूर्व अपरहन 3 बजे मंगलवार को पिचकारी एवं पारम्परिक हर्बल रंगों का वितरण किया गया।
मुख्यत मालिन बस्ती से आए हुए दीपक, चांदनी, रेणु, प्रिय पूजा आदि बच्चों ने इस वितरण आयोजन मे हिस्सा लिया,

बुधवार को होगी नमोस्तुते माँ गोमती महाआरती।
फागुन शुल्क पूर्णिमा एवं होलिका दहन के शुभ अवसर दिनांक 20 मार्च 2019 को सायं 6 बजे से मनकामेश्वर मठ-मंदिर के ओर डालीगंज स्थित मनकामेश्वर उपवन घाट पर मठ-मंदिर की मंहत देव्यागिरि के सानिध्य में नमोस्तुते माँ गोमती की महाआरती का आयोजन किया जाएगा।

Spread the love

Leave a Comment