Share

नर्सिंग होम में घटित घटना की हकीकत को पत्रकारों से रूबरू कराते समय महिला डॉक्टर की आँखों से छलके आँसू

सागर- शहर के मकरोनिया क्षेत्र में स्तिथ नारायण नर्सिंग होम में पिछले दिनों हुई एक घटना के संबंध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और नर्सिंग एसोसिएशन ने अपना पक्ष रखा और कानून के दायरे भी बताए। घटना 23 फरवरी की है जब नारायण नर्सिंग होम में डिलीवरी के दौरान महिला और नवजात की मौत हो गई थी, गुस्साए परिजन और आस पास के लोगो ने अस्पताल में तोड़फोड़ कर दी थी। अस्पताल के स्टाफ के साथ गालीगलौज भी की और डॉक्टर को जान से मारने की धमकी दी। परिजनों का आरोप था कि डॉ की लापरवाही से जच्चा बच्चा की मौत हुई है। फिलहाल मामला मकरोनिया थाने में है।
बुधवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और नर्सिंग एसोसिएशन ने पत्रकारवार्ता के दौरान उक्त घटना की जानकारी पत्रकारों को दी। आई एम ए की अध्यक्ष डॉ नीना गिडियन का कहना है कि इस प्रकार की तोड़फोड़ अस्पताल में अशोभनीय है आई एम ए इस घटना की निंदा करता है। डॉक्टरों की सुरक्षा में कानून भी बना है जिसमे जुर्माने के साथ सजा का भी प्रावधान है। पत्रकारवार्ता के दौरान डॉक्टर मोनिका शर्मा की आँखों से आँसू छलक पड़े क्योंकि वे घटना वाले दिन अस्पताल में ही थी मृतिका महिला का काफी समय पहले से इलाज भी कर रही थी। डॉ शर्मा का कहना है कि घटना काफी मार्मिक थी, मृतिका के परिजनों को समझाइश भी दी जा रही थी उसके बाद भी इस तरह की तोड़फोड़ की। बहरहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है ।

Spread the love

Leave a Comment