Share

आसान नहीं होगा तेजप्रताप यादव का पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेना, जानिए कैसे

पटनाः आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की अर्जी न्यायालय में दाखिल कर दी है. हालांकि तेजप्रताप को इस अर्जी को वापस लेने मनाया जा रहा है. वहीं, खबरों की मानें तो तेजप्रताप यादव ने ऐश्वर्या से तलाक लेने का मन बना लिया है. हालांकि तेजप्रताप यादव के लिए भी यह आसान नहीं होगी.

तेजप्रताप यादव ने पटना की फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है. उन्होंने शुक्रवार देर शाम को कोर्ट में तलाक की याचिका दायर की. उन्होंने 13 (1) (1a) हिंदू मैरिज एक्ट के तहत तलाक की अर्जी दी है.

हालांकि उन्हें आसानी से ऐश्वर्या से तलाक नहीं मिल पाएगा. तलाक लेने के लिए इसमें कई अड़चनें हैं, जिसमें तलाक के लिए काफी समय लगेगा.

तेजप्रताप यादव ने 13 (1) (1a) हिंदू मैरिज एक्ट के तहत तलाक की अर्जी दी है. इसके अनुसार यह साफ है कि केवल तेजप्रताप की ओर से तलाक की अर्जी दाखिल की गई है. पत्नी ऐश्वर्या की ओर से तलाक की अर्जी दाखिल नहीं की गई है. या दोनों मिलकर तलाक लेने का फैसला नहीं किया है. ऐसे में उन्हें तलाक लेने में काफी समय लगेगा.

भारतीय कानून के तहत हिंदू मैरिज एक्ट में तलाक लेने के दो तरीके हैं. जिसमें पहला है दोनों पक्षों द्वारा सहमति से तलाक लेना. वहीं, दूसरा आधार है, पति-पत्नी में से किसी भी एक का अपनी शादी से खुश न होना. हालांकि दोनों पक्षों की सहमति से होने वाले तलाक में प्रक्रिया कम होती है और अधिक समय नहीं लगता है, लेकिन कम से कम 6 माह की प्रक्रिया होती है.

वहीं, केवल एक पक्ष द्वारा तलाक के लिए तैयार होना, जबकि दूसरा पक्ष तलाक के लिए तैयार न हो तो इस मामले में तलाक लेना काफी मुश्किल होता है. ऐसी स्थिति में तलाक तभी मिलता है जब तलाक लेने वाला पक्ष यह साबित करे की उसे मानसिक, शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया है. वहीं, पार्टनर के मानसिक रूप से विक्षिप्त होना और पार्टनर का छोड़ देना जैसी चीजें न्यायालय में साबित करनी होती है.

Spread the love

Leave a Comment